29 दिसंबर, 2010

एडवोकेट्स क्रिकेट ट्राफी इलाहाबाद की झोली में

एडवोकेट्स क्रिकेट ट्राफी इलाहाबाद की झोली में
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम छत्तीसगढ़ की गौरवपूर्ण उपलब्धि : शेखर दत्त

रायपुर.(२९ जनवरी, २०१०, बुधवार).   छत्तीसगढ़ एडवोकेट्स क्रिकेट एसोसिएशन की मेजबानी में आयोजित 22वीं आल इंडिया एडवोकेट्स क्रिकेट प्रतियोगिाता का खिताब इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जीत लिया। इलाहाबाद ने इंदौर फाइनल मुकाबले में सात विकेट से पराजित किया। राज्यपाल शेखर दत्त ने विजेता-उपविजेता ट्राफी देते हुए राजधानी के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को छत्तीसगढ़ की गौरवपूर्ण उपलब्धि बताया।
इंदौर और इलाहाबाद के बीच फाइनल मुकाबला और समापन समारोह यहां परसदा स्थित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित किया गया। इंदौर ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 11. 4 ओवर में अपने सभी  विकेट 82 रन के स्करो पर खो दिए। रजनीश पांचाल ने 19 और राकेश पालीवाल ने 10 रन बनाए। इलाहाबाद के राजेश शर्मा ने चार विकेट हासिल किए। जवाबी पारी में इलाहाबाद ने मैन आफ द मैच नासिर अली के 48 रन की बदौलत 16.1 ओवर में विजय लक्ष्य हासिल कर सात विकेट से जीत दर्ज की। प्रतियोगिता के समापन समारोह के मुख्य अतिथि राज्यपाल शेखर दत्त ने विजेता-उपविजेता टीमों और खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया। इस दौरान उन्होंने छत्तीसगढ़ एडवोकेट्स क्रिकेट एसोसिएशन को बधाई देते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम को राज्य की महत्वपूर्ण उपलब्धि माना और इसके लिए मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह, शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और खेल मंत्री लता उसेंडी के प्रयासों को सराहनीय बताया। उन्होंने कहा कि क्रिकेट स्टेडियम छत्तीसगढ़ की काफी अहम धरोहर है और इसका बेहतर उपयोग हो सकता है। उन्होंने श्रीलंका टीम की मौजूदगी को भी महत्वपूर्ण बताया और उम्मीद जताई की श्रीलंका लायर्स के खिलाड़ी श्रीलंका जाकर यहां की संस्कृति से लोगों को अवगत कराएंगे और छत्तीसगढ़ आने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। समारोह में लोक निर्माण और शिक्षा मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि आने वाले दिनों में यहां अंतरराष्ट्रीय स्तर के मैच हो सकेंगे इसकी उन्हें पूरी उम्मीद  है। श्री अग्रवाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में काफी प्रतिभाएं हैं, उन्हें आगे लाने की जररूत है। उन्होंने कहा कि राज्य निर्माण के बाद यहां सबसे बड़ा पहला निर्माण अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का हुआ और दूसरा निर्माण बिलासपुर हाईकोर्ट का हुआ है। इसके पूर्व छत्तीसगढ़ क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष फैसल रिजवी ने स्वागत भाषण दिया। समारोह को आल इंडिया एडवोकेट्स क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष आर संथानन कृष्णनन, जस्टिस धीरज मिश्रा, एडवोकेट्स जनरल देवराज सुराना ने भी  संबोधित किया। इस दौरान जस्टिस सुभाषचंद्र मिश्रा, महापौर किरणमयी नायक, वीके मुंशी, बार काउंसिल आफ छत्तीसगढ़ के चेयरमैन शैलेंद्र दुबे, इकबाल अहमद रिजवी,भूपेंद्र जैन सहित कई वरिष्ठ अधिवक्ता और खिलाड़ी मौजूद थे। इस दौरान रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया जिसमें स्कूली बच्चों ने देश की एकता पर केंद्रीत नृत्य प्रस्तुत किया।


अधिवक्ताओं को कई पुरस्कार
समापन समारोह में अधिवक्ताओं और खिलाड़ियों को कई पुरस्कार राज्यपाल शेखर दत्त के द्वारा दिए गए। आल इंडिया एडवोकेट्स क्रिकेट एसोसएशन के अध्यक्ष आर संथानन कृष्णनन को लाइफ टाइम अचीवमेंट का पुरस्कार दिया गया। श्रीलंका लायर्स टीम के सभी खिलाड़ियों को मेमोरियल आफ छत्तीसगढ़ ट्राफी दी गई। रायपुर अधिवक्ता क्रिकेट की 1980 में बुनियाद रखने वाले वरिष्ठ अधिवक्ताओं को बुनियाद ट्राफी दी गई। इस प्रतियोगिता में सेमीफाइन ट्राफी उड़ीसा और सुप्रीम कोर्ट को दी गई। मैच के मेन आफ द मैच की ट्राफी इलाहाबाद के नासिर अली को दी गई। बेस्ट बालर की ट्राफी इलाहाबाद के संतोष (15 विकेट) को दी गई। कैचेस अवार्ड श्रीलंका के पी सिल्वा को दिया  गया। बेस्ट बल्लेबाज की ट्राफी नासिर अली (33 रन) को दी गई। मैन आफ द सीरीज इंदौर के राकेश पालिवार घोषित किए गए और उन्हें हीरो होंडा प्रदान की गई।


कोई टिप्पणी नहीं: