22 जनवरी, 2011



पावरलिफ्टिंग में छाईं राज्य की लड़कियां
जूनियर लड़कियों ने लगातार चौथी बार जीती चैंपियनशिप
 केरल में खेली गई जूनियर नेशनल पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में छत्तीसगढ़ की बालिका टीम ने सर्वाधिक 58 अंकों के साथ चौथी बार टीम चैंपियनशिप पर कब्जा जमा लिया। इस चैंपियनशिप में केरल ने दूसरा स्थान और उत्तरप्रदेश की टीम ने तीसरा स्थान हासिल किया।
छत्तीसगढ़ पावरलिफ्टिंग एसोसिएशन के सचिव और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी कृष्णा साहू ने बताया कि पावरलिफ्टिंग में छत्तीसगढ़ की अब तक की यह सबसे अहम उपलब्धि है। टीम को वर्ष 2008 में डिब्रूगढ़ असम में, 2009 पटिलाया पंजाब में, 2010 गोवाहाटी असम में और इस वर्ष 2011 में एलप्पी केरल में लगातार चौथी बार चैंपियनशिप की उपलब्धि हासिल हुई है। श्री साहू ने बताया कि इस प्रतियोगिता मे ंराष्ट्रीय पदक विजेता पूजा नायक को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के आधार पर सर्वाधिक अंक दिए गए और पूजा को स्ट्रांग वूमन आफ इंडिया के खिताब से भी नवाजा गया। पूजा ने वर्ष 2009 में जमशेदपुर नगर में सबजूनियर नेशनल पावरलिफ्टिंग प्रतियोगिता में भी स्ट्रांग वुमन आफ इंडिया का खिताब हासिल किया था। केरल ेकी जूनियर नेशनल में 44 किलोग्राम वजन वर्ग में लक्ष्मी साहू ने स्वर्ण, 52 किलोग्राम में पूजा नायक ने स्वर्ण, 56 किलोग्राम में संतोषी विभार ने रजत, शालिनी नायक ने कांस्य, 52 किलोग्राम में रोहिणी ने कांस्य, 60 किलोग्राम में प्रेरणा राणे ने कांस्य  पदक हासिल  किया। बालक वर्ग में रंजीत तांडी ने 52 किलोग्राम वजन वर्ग में स्काट में कांस्य पदक, मधुसूदन दीप ने 56 किग्रा में डेड लिफ्ट मे ंरजत पदक, 60 किग्रा में हरीश कुमार ने ब्रेंच प्रेस में कांस्य पदक और 125 किलोग्राम से ऊपर वर्ग में अभिषेक घोष ने ब्रेंचप्रेस में रजत पदक हासिल किया। श्री साहू ने बताया कि राज्य में यह खेल अब व्यक्तिगत खेलों में सर्वाधिक राष्ट्रीय पदक हासिल करने वाला खेल हो गया है। छत्तीसगढ़ के पावरलिफ्टरों ने इस खेल में पिछले 35 वर्षों में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर कीर्तिमान स्थापित किया है। राज्य को यह उपलब्धियां दिलाने में ए नागभूषण, के एस अनिलजीत, कृष्णा साहू, एमए शफीक का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। छत्तीसगढ़ की इस उपलब्धि पर राज्य पावरलिफ्टिंग संघ के मुख्य संरक्षक आईजी मुकेश गुप्ता, खेल संचालक जीपी सिंह, एसके जैन सहित बीएसपी के अधिकारियों ने हर्ष व्यक्त किया है।

कोई टिप्पणी नहीं: