09 मार्च, 2011

छत्तीसगढ़ को मिला बास्केटबॉल इंडोर स्टेडियम



 मुख्यमंत्री के हाथों लोकार्पित

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव में छत्तीसगढ़ के प्रथम वुडनकोर्ट बास्केटबाल इंडोर स्टेडियम का लोकार्पण किया। लगभग चार करोड़ 03 लाख रुपये की लागत से निर्मित यह स्टेडियम सिर्फ ग्यारह महीने के रिकार्ड समय में तैयार हुआ है। इसी लम्बाई 37 मीटर, चौड़ाई 22 मीटर और ऊंचाई दस मीटर की है। इसमें एक हजार दर्शक क्षमता वाली गैलेरी का भी निर्माण किया गया है। मुख्यमंत्री ने लोकार्पण समारोह में कहा कि यह स्टेडियम प्रदेश में राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को तैयार करने में कारगर साबित होगा। आने वाले समय में यहां के खिलाड़ी अपने खेल कौशल और उपलब्धियों से राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदेश का नाम रौशन करेंगे। डॉ. सिंह ने इस अवसर पर प्रदेश के अंतर्राष्ट्रीय स्तर के तेरह प्रतिभावान खिलाड़ियों को शाल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। नगरीय प्रशासन एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत ने समारोह की अध्यक्षता की।
     6486A-080311डॉ. सिंह ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि राजनांदगांव के दिग्विजय स्टेडियम परिसर में निर्मित भव्य बास्केटबॉल इंडोर स्टेडियम प्रदेश के खिलाड़ियों की प्रतिभा को निखारने का अवसर प्रदान करेगा। खेलों के क्षेत्र में राजनांदगांव का अपना अलग स्थान है, राजनांदगांव के खिलाड़ियों ने समय-समय पर राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी खेल प्रतिभा का बेहतर प्रदर्शन करते हुए छत्तीसगढ़ का नाम रौशन किया है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि खेल की सभी विधाओं में खिलाड़ियों को बेहतर से बेहतर अधोसंरचना उपलब्ध कराने के हर संभव प्रयास राज्य शासन द्वारा किए जा रहे हैं।
    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि वुडनकोर्ट वाला यह छत्तीसगढ़ का पहला बास्केटबॉल इंडोर स्टेडियम है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर के प्रतिभावान खिलाड़ियों अंतर्राष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी मृणाल चौबे, कराते खिलाड़ी अम्बर भारद्वाज, बास्केटबॉल खिलाड़ी लूरेन्द्र साहू, बालीबॉल खिलाड़ी रेखापाल, तीरंदाजी में प्रमिला साहू, हैंडबाल में प्रियल सोनी को शाल-श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया। उन्होंने पंजा-कुश्ती में रामसिंह, महिला क्रिकेट में नेहा बडनाईक, हैंडबाल के चुन्नीलाल मोहबे और वरिष्ठ खिलाड़ियों में हॉकी के आरएन विश्वकर्मा, आरआर शुक्ला, मैकूलाल यादव और बैडमिंटन में बाबूभाई गौतम को भी शाल-श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया।
     ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने राजनांदगांव में बास्केटबॉल का इंडोर स्टेडियम बनाये जाने की  पहल स्वयं की थी। स्टेडियम में बास्केटबॉल के खेल के लिये वुडनकोर्ट के निर्माण के साथ ही बाहर से आने वाले खिलाड़ियों की आवासीय व्यवस्था के लिये 18 कमरों का भी निर्माण कराया गया है। इंडोर स्टेडियम में स्कोर डिस्प्ले के लिये इलेक्ट्रॉनिक डिस्प्ले बोर्ड लगाया गया है। यहां कान्फ्रेन्स हॉल और सांई के कार्यालय का भी निर्माण कराया गया है। बास्केटबॉल इंडोर स्टेडियम के लिये वुडनकोर्ट का निर्माण 32 मीटर लंबाई तथा 19 मीटर चौड़ाई में कराया गया है। इसके बेस में लगाई गई लकड़ी मलेशिया से मंगाई गई है, जो फाइनवुड क्वालिटी की है। इसके ऊपर उच्च क्वालिटी के सागौन की पट्टियां लगाई गई है। वुडनकोर्ट का निर्माण कलकत्ता से आये विशेष कारीगरों ने किया है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के बाद राजनांदगांव में जी.ई. रोड में निर्माणाधीन फ्लाई ओव्हर का निरीक्षण भी किया।
    इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री सुश्री लता उसेंडी, लोकसभा सांसद श्री मधुसूदन यादव, बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष श्री लीलाराम भोजवानी, छत्तीसगढ़ राज्य पाठय पुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री अशोक शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दिनेश गांधी और नगर निगम राजनांदगांव के महापौर श्री नरेश डाकलिया, सहित अनेक जनप्रतिनिधि, खिलाड़ी, खेलसंघों के पदाधिकारी और खेलप्रेमी प्रबुध्द नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: