24 जनवरी, 2011


  मिशन 34वां नेशनल गेम्स शुरू
234 खिलाड़ियों अधिकारियों का दल लेगा झारंखंड नेशनल गेम्स में हिस्सा
झारखंड में 12 फरवरी से आयोजित होने वाले 34वें नेशनल गेम्स में छत्तीसगढ़ से कुल 234 खिलाड़ियों व अधिकारियों का दल हिस्सा लेगा। रविवार को मिशन नेशनल गेम्स की औपचारिक शुरुआत हो गई। खेल मंत्री लता उसेंडी ने नेशनल गेम्स के लिए लगाए गए कैंप का यहां न्यू सर्किट हाऊस में उद्घाटन किया।
झारखंड नेशनल गेम्स में कुल 18 खेलों की टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनमें एथलेटिक्स, बैडमिंटन, बास्केटबाल, हैंडबाल, एक्वेटिक्स, जिम्नास्टिक, कराते डू, शूटिंग, फेंसिंग, कुश्ती, टेबल टेनिस, खो-खो, आरचरी, बाक्सिंग, वेटलिफ्टिंग, केनोइंग एंड क्याकिंग, ट्रायथलान और स्क्वैश शामिल है। कुल 97 पुरुष खिलाड़ियों, 57 महिला खिलाड़ियों, 32 प्रशिक्षक और 19 प्रबंधकों सहित 234 खिलाड़ियों व अधिकारियों का दल हिस्सा लेगा। यहां सर्किट हाऊस में नेशनल गेम्स के कैंप के उद्घाटन के दौरान स•ाी सं•ाावित खिलाड़ियों ने अपना-अपना परिचय दिया। इस दौरान खेल संचालक जीपी सिंह, उपसंचालक खेल ओपी शर्मा,  छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के सचिव बशीर अहमद खान, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गुरुचरण सिंह होरा, मोहम्मद अकरम खान, कैलाश मुरारका, राजेश पटेल सहित प्रदेश ओलंपिक संघ के कई पदाधिकारी, राज्य खेल संघों के पदाधिकारी और खिलाड़ी मौजूद थे।


फेडरेशन कप से चमकेगी तकदीर


बास्केटबाल के इंडिया कैंप के लिए खुलेंगे दरवाजे
राज्य निर्माण के दस साल पूरे होने की खुशी में मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह की बास्केटबाल का बड़ा टूर्नामेंट कराने की घोषणा ने राजधानी की तकदीर चमका दी है। राजधानी के इनडोर स्टेडियम में अगले माह 10 फरवरी से होने वाले फेडरेशन कप बास्केटबाल टूर्नामेंट के बहाने हाईड्रोलिक पोल, इलेक्ट्रानिक पोल और 24 सेकंड आपरेटर जैसी सुविधाएं मुहैया हो जाएंगी। इससे भविष्य में यहां न केवल इंडिया कैंप का आयोजन किया जा सकेगा बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर बास्केटबाल की स्पर्धाएं भी आयोजित हो सकेंगी
रायपुर, 23 जनवरी, 2011. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ ओल्ंपिक संघ का अध्यक्ष बनने के बाद राज्य निर्माण के दस साल पूर्ण होने के मौके पर राज्य खेल उत्सव के साथ-साथ क्रिकेट या बास्केटबाल के बड़े टूर्नामेंट का आयोजन करने की घोषणा की थी। इस घोषणा पर खेल संचालनालय और छत्तीसगढ़ बास्केटबाल संघ ने अमल करते हुए बास्केटबाल फेडरेशन से टूर्नामेंट की मेजबानी लेने के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय मापदंड के खेल उपकरणों की सुविधा भी हासिल कर ली।
राजधानी में अगले माह 10 फरवरी से 25वीं आईएमजी रिलायंस फेडरेशन कप नशनल बास्केटबाल चैंपियनशिप का आयोजन किया जाएगा। इस प्रतियोगिता की मेजबानी लेने से लेकर महंगे खेल उपकरणों की व्यवस्था दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले खेल संचालक जीपी सिंह के मुताबिक फेडरेशन कप का आयोजन राजधानी में पहली बार किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता की बेहतर तैयारियां की जा रही हैं। इस प्रतियोगिता के माध्यम से हाईड्रोलिक पोल, इलेक्ट्रानिक स्कोर बोर्ड और 24 सेकंड आपरेटर जैसी सुविधाएं उपलब्ध हो जाएंगी। हाईड्रोलिक पोल इडोर स्टेडियम में लगाया जाएगा जो आटोमेटिक रहेगा। टूर्नामेंट के दौरान बटन दबाते ही पोल खड़ा हो जाएगा जिस पर बोर्ड लगाकर मुकाबले खेले जाएंगे। टूर्नामेंट समाप्त होने पर पोल वापस आसानी से निकाला जा सकता है जिससे दूसरे खेलों के आयोजन हो सकें। इसी तरह इलेक्ट्रानिक मीटर बोर्ड भी बटन से काम करेगा। बास्केटबाल के राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्पर्धाओं में 24 सेकंड आपरेटर सिस्टम की भी काफी अहम भूमिका रहती है। मैच के दौरान किसी भी टीम के खिलाड़ी के पास 24 सेकंड से ज्यादा बाल नहीं रहती वरन, विरोधी टीम को बाल थ्रो मिल जाता  है। इसकी निगरानी 24 सेकंड आपरेटर करता है। राज्य बास्केटबाल संघ के सचिव और अंतरराष्ट्रीय कोच राजेश पटेल के मुताबिक राज्य सरकार का यह काफी अहम कदम है। इस प्रतियोगिता के मुकाबले यहां इनडोर स्टेडियम में खेले जाएंगे। इसके लिए इनडोर स्टेडियम में ये उपकरण लगाए जाएंगे। श्री पटेल के मुताबिक देश के कई राज्यों में ये सुविधाएं हैं और वहां इन्ही सुविधाओं की वजह से न केवल इंडिया कैंप का आयोजन होता है बल्कि राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धाएं भी होती हैं। इनडोर स्टेडियम की सुविधा मिलने के साथ-साथ आधुनिक खेल उपकरण मिलने से यहां भी इंडिया कैंप व राष्ट्रीय स्पर्धाओं का आयोजन हो सकेगा। दूसरी तरफ खेल सूत्रों का कहना है कि राजधानी के इनडरो स्टेडियम का उद्घाटन संभवत: इस माह 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर किया जा सकता है।
इनडोर की होगी पहली राष्ट्रीय प्रतियोगिता
फेडरेशन कप बास्केटबाल प्रतियोगिता इनडोर स्टेडियम की पहली राष्ट्रीय प्रतियोगिता होगी। इस स्टेडियम का निर्माण पिछले साल हो गया होता तो यहां वालीबाल का बड़ा टूर्नामेंट आयोजित किया जाता। बहरहाल इनडोर स्टेडियम के आबंटन के लिए प्रदेश बास्केटबाल संघ के पदाधिकारियों ने निगम आयुक्त से मुलाकात भी की। संघ के पदाधिकारियों को पूर्ण सहयोग का आश्वासन मिला है।