13 मार्च, 2011

ओलंपिक संघ को मिले कई नए चेहरे


मंत्री, विधायक, प्रशासनिक अफसर, क्रीड़धिकारी
 खिलाड़ी और खेल संघों के पदाधिकारी शामिल 



छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ यानी सीओए की नई कार्यकारिणी में न सिर्फ राज्य खेल संघों के पदाधिकारियों को तरजीह दी गई है बल्कि दो मंत्रियों के साथ-साथ विधायक, प्रशासनिक अधिकारी, क्रीड़ाधिकारी और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को शामिल किया गया है। नई कार्यकारिणी को लेकर कई तरह के कयास एक पखवाड़े से चल रहे थे। कई नाम दावेदारों में सामने आ रहे थे। सभी की नजरें सचिव पद पर लगी थीं और इस पद पर जितने भी नाम सामने आए वे सभी पीछे रह गए। 


रायपुर। सीओए की नई कार्यकारिणी का गठन यहां न्यू सर्किट हाऊस में सीओए अध्यक्ष और मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह की अध्यक्षता में किया गया। छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के महासचिव छत्तीसगढ़ क्रिकेट संघ के अध्यक्ष बलदेव सिंह भाटिया बनाए गए। श्री भाटिया के नाम की कहीं भी चर्चा नहीं थी और जिन नामों की चर्चा थी उन पर मुहर नहीं लगाई गई। हांलाकि इन्हें कार्यकारिणी में जगह जरूर दी गई। सीओए के कोषाध्यक्ष छत्तीसगढ़ स्क्वैश संघ के सचिव डा. विष्णु श्रीवास्तव बनाए गए जो साइंस कालेज में क्रीड़ाधिकारी हैं। इसके अलावा आठ उपाध्यक्ष बनाए गए हैं। इनमें छत्तीसगढ़ वालीबाल संघ के नवनियुक्त अध्यक्ष और नगरीय प्रशासन मंत्री राजेश मूणत, खेल मंत्री लता उसेंडी, संसदीय सचिव और राज्य वेटलिफ्टिंग संघ के अध्यक्ष विजय बघेल, विघायक कुलदीप जुनेजा, छत्तीसगढ़ ट्रायथलान एसोसिएशन के अध्यक्ष रामनिवास, खेल संचालक जीपी सिंह, सीओए के पूर्व सचिव और राज्य हैंडबाल संघ के सचिव बशीर अहमद खान तथा छत्तीसगढ़ टेनिस संघ के अध्यक्ष विक्रम सिसोदिया शामिल हैं। सीओए का संयुक्त सचिव स्क्वैश संघ के उपाध्यक्ष राकेश सिंह, जिम्नास्टिक के अध्यक्ष अश्विनी महेंदु, बाक्सिंग संघ के सचिव राजेंद्र प्रसाद, राज्य टेटे संघ के अध्यक्ष शरद शुक्ला और विजय अग्रवाल बनाए गए हैं। कार्यकारिणी सदस्यों में राज्य जूडो संघ के अध्यक्ष सु•ााष राव, रोविंग संघ के अध्यक्ष राजा रणविजय सिंह जूदेव, राजानांदगांव ओलंपिक संघ के अध्यक्ष विजय पांडेय, तैराकी संघ के अध्यक्ष गोपाल खंडेलवाल, बिलियड्स संघ के अध्यक्ष विजय अग्रवाल (दुर्ग), डा. एके श्रीवास्तव (वालीबाल संघ), नीता डुमरे, इंजीनियर एनआर परासर और ट्रायथलान के कोषाध्यक्ष आलोक दुबे शामिल हैं। विशेष आमंत्रित सदस्यों में वीजी भिसे, विश्वजीत मित्रा, सबा अंजुम और गजराज पगारिया को शामिल किया गया है। सीओए की इस बैठक में भारतीय ओलंपिक संघ के आजीवन अध्यक्ष विद्याचरण शुक्ल, डीजीपी विश्वरंजन के अलावा कई प्रशासनिक अधिकारियों सहित सभी राज्य खेल संघों के पदाधिकारी मौजूद थे।


खेल संघों के लिए खुला लाखों का खजाना
छत्तीसगढ़ के 32 खेलों के राज्य खेल संघों के लिए उद्योगों ने लाखों रुपयों का खजाना खोल दिया है। सीओए की कार्यकारिणी के पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह और उद्योगपतियों की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में सभी उद्योगपतियों ने अलग-अलग खेलों को गोद लेने की सहमति दी और संघों को 25 से 35 लाख रुपए की वार्षिक आर्थिक सहायता मुहैया कराने की बात कही। उद्योग खेल आयोजनों के लिए करीब 10 लाख रुपए, प्रशिक्षण के लिए 10 लाख रुपए और खिलाड़ियों के खेल उपकरणों के लिए करीब 15 लाख रुपए खर्च करेंगे। पहले साल आर्थिक सहायता के बाद  दूसरे साल इसकी समीक्षा की जाएगी और इसके बाद दी जाने वाली राशि में बढ़ोत्तरी या कटौती की जाएगी। इसके अलावा जिन उद्योगों से खेल संघों को सहायता मुहैया कराई जाएगी उन उद्योगों से एक प्रतिनिधि या उद्योगपति को संबंधित राज्य खेल संघ का उपाध्यक्ष बनाया जाएगा और उन्हें वोटिंग पावर भी दिया जाएगा। जिन खेल संघों को उद्योगों ने गोद लिया है उनमें आरचरी को एनएमडीसी, एथलेटिक्स को बजरंग पावर लि. रायपुर, बैडमिंटन को सेंचूरी सीमेंट, बास्केटबाल को बीईसी, साइकिलिंग को मनमीत स्टील, फेंसिंग को लाफार्ज सीमेंट, फुटबाल को आईएनडी पा. लि. रायगढ़, जिम्नास्टिक को प्रकाश इंडस्ट्रीज लि. चांपा, हैंडबाल को एनएमडीसी, हाकी को वेदांता, बालको कोरबा, खो-खो को जीआर स्पंज एंड पावर लि., कबड्डी को एसईसीएल, नेटबाल को एसकेएस स्टील एंड पा. लि. रग्बी सेवन ए साइड को वीसा स्टील एंड पा. लि, स्क्वैश को इस्पात गोदावरी लि. रायपुर, टेबल टेनिस को एनटीपीसी कोरबा, टेनिस को वेदांता ग्लोबल लि. रायपुर, वालीबाल को शारदा इंडस्ट्रीज, एक्वेटिक्स को भिलाई  इस्पात संयंत्र, कनोइंग एंड क्याकिंग को ग्रासीम सीमेंट, रोविंग को अंबूजा सीमेंट, ट्रायथलान को एलएंडडी सीमेंट ने गोद लिया। पावर गेम्स में बाक्सिंग को मोनेट ने, वेटलिफ्टिंग को जेपी सीमेंट ने, कुश्ती को सिम्पलेक्स लिमिटेड भिलाई  ने, मार्शल आर्ट्स खेलों में जूडो को एसीसी सीमेंट ने, कराते डू को हीरा ग्रुप ने, ताइक्वांडो को बीकेएसके ने गोद लिया। इसके अलावा एक्वेस्ट्रेरियन और शूटिंग को जिंदल स्टील पूर्व से ही प्रायोजित कर रहा है। लान बाल को डीबी पावर ने गोद लिया है।

मीडिया ने किया बहिष्कार, सीएम ने माफी मांगी
छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ की बैठक के पूर्व उद्योगों के साथ आयोजित की गई बैठक में मीडिया को जाने से रोक दिया गया। मीडिया से कहा गया कि इस बैठक से मीडिया को दूर रहने के निर्देश सीएम हाऊस से दिए गए हैं। उद्योगों के साथ हुई बैठक के बाद सीओए की कार्यकारिणी की   बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान मीडया ने बैठक का ही बहिष्कार कर दिया। बाद में जब पत्रकारों ने मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह को पूरी घटना बताई तो उन्होंने भी आश्चर्य व्यक्त किया और इसके लिए माफी मांगी। उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी।

उद्योगों से कोई जबरदस्ती नहीं : डा. रमन


छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के अध्यक्ष मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि उद्योगों से किसी तरह की कोई जबरदस्ती नहीं की गई है कि वे खेलों को गोद लें। उद्योगों से आग्राह किया गया था और यह खुशी की बात है कि उद्योगों ने स्वेच्छा से खेलों को गोद लेने की बात कही और आर्थिक सहायता मुहैया कराने पर सहमति दी। डा. सिंह ने कहा कि उद्योगों के पास एक माह का समय है और वे सहयोग करने में असक्षम हैं तो मना कर सकते हैं, कोई जोर-जबरदस्ती नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खेलों का बेहतर वातावरण निर्मित होगा और खेल की मूलभुत  सुविधाओं के विकास के लिए बेहतर से बेहतर कदम उठाए जाएंगे।

खर्च खिलाड़ियों पर होगा : भाटिया
 
छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ के महासचिव बलदेव सिंह भाटिया ने कहा है कि उद्योगों के खेल संघों को गोद लेने से प्रदेश में खेलों का काफी विकास होगा और ज्यादा से ज्यादा खर्च खिलाड़ियों, खेल उपकरणों, प्रशिक्षकों पर किया जाएगा न कि उद्घाटन समारोह या समापन समारोह में। श्री भाटिया ने कहा कि छत्तीसगढ़ ओलंपिक संघ का कार्यालय शीघ्र ही राजधानी में खोला जाएगा जिसमें वे अपना समय नियत करेंगे। इससे खिलाड़ी उनसे सीधे संपर्क कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आगामी 2013-14 में संभावित 37वें राष्ट्रीय खेलों पर विधानसभाचुनाव का कोई असर नहीं होगा। इसका काफी बेहतर आयोजन किया जाएगा।