26 मार्च, 2011

बकअप राजदीप. . .




राजदीप का छत्तीसगढ़ सिख संगठन ने सम्मान किया.

जंप रोप पर हंसने वालों की बोलती बंद
रायपुर। राजधानी के अंतरराष्ट्रीय जंपर राजदीप सिंह हरगोत्रा ने जंप रोप में नया गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड बनाकर छत्तीसगढ़ के तथाकथित उन खेल संघों के पदाधिकारियों की बोलती बंद कर दी है जो इस नए खेल पर हंसते थे। राजदीप ने न केवल नया कीर्तिमान हासिल किया बल्कि यह भी  साबित कर दिखाया कि हौसले बुलंद हों तो वर्ल्ड रिकार्ड रस्सी कूदकर  बनाया जा सकता है।
30 सेकंड में 154 बार रस्सी कूदने का वर्ल्ड रिकार्ड जापान की मेगुमी सुजूकी के नाम पर था। राजदीप ने 30 सेकंड में 159 बार रस्सी कूदकर नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया और माना जा रहा है कि इस वर्ल्ड रिकार्ड को आने वाले कई सालों तक कोई नहीं तोड़ पाएगा। राजदीप ने न केवल छत्तीसगढ़ बल्कि पूरे देश का नाम पूरे विश्व में रोश्न कर दिया है। राजदीप के इस वर्ल्ड रिकार्ड का सीधा प्रसारण कलर्स चैनल पर किया गया। होस्ट प्रीति जिंटा ने राजदीप के रिकार्ड के टूटते ही उसे गले लगा लिया और राजदीप के माता-पिता भी गर्व करने लगे। जंप रोप एसोसिएशन आफ छत्तीसगढ़ के सचिव अखिलेश दुबे के मुताबिक राजदीप से नए रिकार्ड की पूरी उम्मीद थी और इस पर वे सौ फीसदी खरे उतरे। राजदीप ने पूरे राज्य का नाम पूरे विश्व में रोशन कर दिया। श्री दुबे ने कहा कि उम्मीद है कि राजदीप का नया गिनीज रिकार्ड आने वाले कई सालों तक कोई नहीं तोड़ पाएगा क्योंकि यह कठिन से कठिन मेहनत का परिणाम और यहां तक पहुंचने के लिए राजदीप के साथ-साथ एसोसिएशन को भी कई संघर्ष करने पड़े हैं। एक समय वह भी था जब कथित खेल विशेषज्ञ जंप रोप (रस्सी कूद) जैसे खेल पर हसते थे और कोई भी सहयोग करने को तैयार नहीं होता था। आज हमें गर्व हो रहा है कि उसी खेल ने राज्य के उन सभी खेलों को पीछे छोड़ दिया जो कभी भी गिनीज रिकार्ड तक नहीं पहुंच सके हैं।